सुविधाओं से वंचित ठिकहा टोला

31-Mar-2016 ||    सीतामढ़ी ||   

सुविधाओं से वंचित ठिकहा टोला सीतामढ़ी। रून्नीसैदुपर प्रखंड के एक ऐसा गांव जहां के लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। बारिश के दिनों में यदि इस गांव से होकर जाना पड़े तो सड़क की हालत देखकर दो किलो मीटर पहले ही अपने गाड़ी लगाकर पैदल जाना पड़ता है। आबादी के बाद भी यह गांव बिजली, पक्की, सड़कविहीन है। यह स्थिति है प्रखंड के मानिक चौक के ठिकहा टोला वार्ड नम्बर एक की। ग्रामीण शशिकांत झा,नागेंद्र झा, लक्ष्मीराम, राकेश झा, शंभू प्रसाद बताते हैं कि हमलोगों को विकास के नाम पर जनप्रतिनिधियों द्वारा केवल आश्वासन ही दिया गया है। ग्रामीण विनोद दास, अंजनी झा ने बताया कि पीसीसी सड़क निर्माण करने के लिए पहले का सोलिंग ठेकेदारों द्वारा उखाड़ कर सभी ईंट को बेच दिया गया। लेकिन सालों बाद सड़क का निर्माण नहीं किया गया। आलम यह है कि बारिश के दिनों में कच्ची सड़क पर जल जमाव एवं कीचड़ की समस्या बनी रहती है। ग्रामीणों ने बताया कि सांसद श्री राय द्वारा जल्द ही सड़क निर्माण कराने का आश्वासन दिया गया। लेकिन चार साल बीत गए पर कोई जनप्रतिनिधि इस गांव में वापस भी नहीं आए। ठिकहा गांव में बिजली के अभाव में यहां के कृषि प्रभावित हो रही है। ग्रामीणों ने बताया की सिंचाई के लिए निजी पंप सेट पर का सहारा लेना पड़ता है। परंतु इस गांव के विकास के लिए किसी जनप्रतिनिधि का ध्यान नहीं पड़ रहा है। ग्रामीण अशोक कुमार, महेश प्रसाद ने बताया कि इस गांव में बिजली के अभाव में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। वहीं शाम होते ही पूरा गांव अंधकार में डूब जाता है।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन