हरियाणा में आरक्षण की आग

20-Feb-2016 ||    चंडीगढ़ ||   

हरियाणा में आरक्षण की आग पानीपत। गुजरात के बाद अब हरियाणा में आरक्षण मसले को लेकर भाजपा सरकार के समक्ष मुसीबतें खड़ी हो गई हैं। गुजरात में पाटीदार समुदाय ने दिक्कत पैदा की तो यहां जाट संगठनों ने फिर हिसक आंदोलन की राह पकड़ ली है। रोहतक में उत्पात मचा रहे आंदोलनकारियों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की, जिसमें चार की मौत हो गई। प्रशासन सिर्फ एक मौत की ही पुष्टि कर रहा है। अलग-अलग जगहों पर हुई हिंसा में 62 लोग घायल हो गए। आरक्षण का शुरू से ही विरोध कर रहे भाजपा सांसद राजकुमार सैनी और वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर पर हमला हुआ। आईजी आवास व दफ्तर में तोड़फोड़ की गई। नौ जिलों में सेना बुला ली गई। रोहतक व भिवानी में कर्फ्यू लगा दिया गया। रेलमार्ग बंद होने से पांच दर्जन से अधिक ट्रेनें रद कर दी गईं। इस बीच, पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने आंदोलन पर सरकार से जवाब-तलब किया है। सर्वदलीय बैठक में शांति की अपील को दरकिनार कर जाट संगठनों ने पूरे प्रदेश को हलकान कर दिया। अफवाहों को रोकने के लिए इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं पर रोक लगाने की तरकीब भी काम न आई। रोहतक में हालात पर काबू पाने के लिए प्रिंसिपल सेक्रेटरी एके सिंह व एडीशनल डीजी बीएस संधू भेजे गए हैं। गुरुवार को जाट संगठनों व गैर जाटों में हुई भिड़ंत और पुलिस कार्रवाई के कारण यह स्थिति सुबह से ही खराब रही। रोहतक में लाठी-डंडों से लैस हजारों युवक आईजी आवास के के सामने जमा हो गए। भीड़ ने वहां तैनात पुलिसकर्मियों को धुन दिया। इस पर सुरक्षाबलों ने फायरिंग की जिसमें तीन प्रदर्शनकारी की मौत हो गई। इससे पहले वाहनों व मॉल में तोड़फोड़ कर रहे लोगों को नियंत्रित करने के लिए फोर्स ने आंसू गैस के गोले छोड़े, लेकिन लोगों ने जवानों को दौड़ा लिया। दो पुलिसकर्मियों को घेरकर बुरी तरह धुन दिया। फोटो खींचने का प्रयास कर रहे एक फोटो जर्नलिस्ट को भी निशाना बनाया गया। झज्जर में पुलिस चौकी फूंक दी। पुलिसकर्मियों ने भागकर जान बचाई। सोनीपत में रेल पटरी उखाड़े जाने के बाद दिल्ली-अंबाला रेल मार्ग पर यातायात ठप हो गया। जींद के बरसोला व कालवन रेलवे स्टेशनों पर जाटों का कब्जा है। सैकड़ों लोग तंबू लगाकर बैठ गए। चंडीगढ़ से दिल्ली जा रही शताब्दी को पानीपत में रोक कर उसमें सवार 200 विदेशी पर्यटकों को सड़क मार्ग से दिल्ली भेजा गया। आंदोलन प्रभावित इलाकों में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। जरूरी वस्तुओं जैसे दूध, सब्जियां, गैस सिलेंडर, पेट्रोल-डीजल आदि की किल्लत होने लगी है। हरियाणा के जाट आंदोलन का असर दिल्ली तक पहुंच गया है। आंदोलनकारियों ने हरियाणा में मूनक नहर का गेट जबरन बंद कर दिया। इसके चलते दिल्ली जल बोर्ड के 10 में से सात जलशोधन संयंत्रों से पानी आपूर्ति प्रभावित हो गई है। ये संयंत्र बंद होने के कगार पर पहुंच गए हैं। आनन-फानन में दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने हरियाणा सरकार के अधिकारियों से संपर्क कर मूनक नहर को जल्द खुलवाने की गुहार लगाई है। यदि देर रात तक यमुना नदी से मूनक नहर में पानी आपूर्ति शुरू नहीं की गई तो दिल्ली में पानी के लिए हाहाकार मच सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से फोन पर बातचीत कर पूरी रिपोर्ट ली है। मुख्यमंत्री ने राज्य की स्थिति से प्रधानमंत्री को अवगत कराया और सर्वदलीय बैठक में हुए फैसले की जानकारी दी। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आंदोलनकारियों से शांति बनाए रखने की अपील की है। जाटों को विशेष पिछड़ा वर्ग का दर्जा देकर 10 फीसद आरक्षण देने का रास्ता साफ होता दिख रहा है। जाटों के अलावा जट सिख, त्यागी, बिश्नोई व रोड़ जाति के लोगों को भी विशेष पिछड़ा वर्ग में शामिल करने पर सहमति बनी है। इसके लिए विधानसभा के 11 मार्च से संभावित बजट सत्र में विधेयक लाया जा सकता है। जाट आंदोलन के कारण जबरदस्त दबाव में आई प्रदेश सरकार द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में यह फैसला लिया गया।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन