नौ रत्‍नों में से एक रत्‍न पुखराज ?

14-Nov-2016 ||    ||   

नौ रत्‍नों में से एक रत्‍न पुखराज ? नई दिल्ली। नौ रत्‍नों में से एक रत्‍न पुखराज है। ज्योतिषि कई समस्याओं के निदान के लिए लोगों को पुखराज धारण करने की सलाह देते हैं। यह बृहस्पति ग्रह से संबंधित रत्न है और गुरु ग्रह को जीवनदाता माना जाता है। जीवन में भाग्यवृद्धि, सुख, सौभाग्य, उन्नति, समृद्धि, पुत्र कामना, विवाह और आध्यात्मिक समृद्धि के लिए पुखराज पहनना चाहिए। पुखराज कई रोगों के उपचार में भी सहायक होता है। यह गला रोग, सीने का दर्द, श्वास रोग, वायु विकार, टीबी, हृदय रोग में लाभदायक है। पुखराज पांच रंगों में पाया जाता है। हल्दी जैसे रंग में, केशरिया रंग में, नींबू के छिलके के रंग जैसा, सोना के रंग जैसा तथा सफेद-पीली झांई जैसा। असली और नकली पुखराज को पहचानने के लिए इसे 24 घंटे तक दूध में रखना चाहिए। इस दौरान यदि क्षीणता या फीकापन न आए तो यह असली होता है। रत्‍न का चुनाव करते समय कई बातों का ध्यान रखना चाहिए। जानकार बताते हैं कि रत्न में जितनी अधिक पारदर्शिता होती है वह उतना ही अच्छा होता है। रत्न टूटा व खंडित नहीं होना चाहिए। रत्न धारण करने से पहले उसे किसी जानकार ज्योतिषाचार्य से मंत्र जाप से सिद्ध करा लेना चाहिए।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन