बिहार छोड़ दूंगा, लेकिन जमानत रद्द ना करें

29-Sep-2016 ||    पटना ||   

 बिहार छोड़ दूंगा, लेकिन जमानत रद्द ना करें नई दिल्ली। पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन की जमानत रद्द करने से जुड़े दो मामलों पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुनवाई पूरी होने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। अब कोर्ट गुरुवार को इस मामले में फैसला सुनाएगा। वकील शेखर नाफडे ने शहाबुद्दीन का पक्ष रखा। इससे पहले बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में सुनवाई हुई थी। पीठ की अध्यक्षता कर रहे जस्टिस पीसी घोष ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के दो आदेश हैं, जिनमें उन्हें हिस्ट्रीशीटर माना गया है। क्या ये गलत कहे जा सकते हैं। कोर्ट ने आगे कहा, हम इस बारे में बहुत स्पष्ट हैं कि हिस्ट्रीशीटर को जमानत नहीं दी जा सकती। शहाबुद्दीन के वकील राम जेठमलानी बुधवार को भी कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। वकील शेखर नाफडे शहाबुद्दीन की पैरवी की। कोर्ट बिहार सरकार के रवैये से भी नाराज था। सर्वोच्च अदालत को हैरानी है कि सरकार ने जमानत रद्द कराने की अर्जी दाखिल करने में इतनी देरी क्यों की। सरकारी वकील ने बताया था कि अगस्त में दाखिल जमानत अर्जी 7 सितंबर को सुनवाई के लिए लगी और उसी दिन हाईकोर्ट ने जमानत का आदेश पारित कर दिया।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन