मायावती को लगा एक और बड़ा झटका

12-Sep-2016 ||    लखनऊ ||   

मायावती को लगा एक और बड़ा झटका नई दिल्ली। बसपा नेताआें के भाजपा में शामिल होने का सिलसिला जारी है और आज चार बसपा विधायक भाजपा में शामिल हो गये। भाजपा की आेर से जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि चारों विधायकों को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की उपस्थिति में पार्टी में शामिल किया गया। विज्ञप्ति के मुताबिक भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों में पलिया (खीरी) से रोमी साहनी, बेहट (सहारनपुर) से महावीर राणा, तिलहर (शाहजहांपुर) से रोशन लाल वर्मा तथा नेहटोर (बिजनौर) से आेम कुमार शामिल हैं। यूपी बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने इन नेताओं को बीजेपी ज्वाइन कराया। इस बीच, इन विधायकों के भाजपा में शामिल होने पर प्रतिक्रिया देते हुए बहुजन समाज पार्टी(बसपा) अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि बीजेपी में शामिल विधायकों का टिकट तीन महीने पहले काट दिया गया था। उन्होंने बताया कि चारों में से तीन विधायक रोमी साहनी, रोशन लाल वर्मा तथा महावीर राणा को तीन महीने पहले ही पार्टी से निकाल दिया गया था। मायावती ने कहा कि कल सहारनपुर महारैली में स्पष्ट किया गया था कि पार्टी में 12 से अधिक विधायकों की संतोषजनक रिपोर्ट न मिलने की वजह से तीन महीने पहले ही टिकट काटा गया है। बसपा अध्यक्ष ने कहा कि बसपा रिजेक्टेड प्रत्याशियों को भाजपा बड़ी खुशी से अपना रही है। भाजपा के पास विधानसभा चुनाव लडऩे के लिए प्रत्याशी नहीं हैं। इससे उनकी खराब हालत का पता चलता है। उन्होंने कहा कि बसपा के जनाधार में इनके जाने से कोई फर्क नहीं पडऩे वाला है। बसपा का जनाधार लगातार बढ़ रहा है।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन