रिकी पोंटिंग को डराते हैं हरभजन सिंह

06-Sep-2016 ||    ||   

रिकी पोंटिंग को डराते हैं हरभजन सिंह नई दिल्ली। दुनिया के महान बल्लेबाजों में शुमार ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को भारतीय स्पिनर और टर्बनेटर हरभजन सिंह से डर लगता था। इतना ही नहीं भज्जी आज भी पंटर को सपने में डराते हैं। पोंटिंग ने खुद खुलासा किया है कि भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह उन्हें अब भी सपने में डराते हैं। दुनिया के सबसे सफल कप्तानों में शुमार पोंटिंग ने कहा, 'मैं जब भी भारत के खिलाफ खेलता था तो मेरे एकमात्र प्रबल प्रतिद्वंद्वी हरभजन सिंह हुआ करते थे। मुझे तो अब भी वह मेरे सपनों में आकर डराते हैं।' हरभजन और ऑस्ट्रेलिया के बीच विवादों का लंबा नाता रहा है। हरभजन और एंड्रयू सायमंड्स का विवाद कोई भूला नहीं है। हालांकि यह दिलचस्प है कि पोंटिंग आईपीएल में उसी मुम्बई इंडियंस टीम के साथ खेले थे जिसमें हरभजन खेलते हैं। पोंटिंग मुम्बई टीम के मेंटर भी हैं। भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली को बेहद विलक्षण और प्रतिभाशाली बल्लेबाज बताते हुए पोंटिंग ने कहा कि विराट अपने समकालीन बल्लेबाजों में काफी आगे है। पंटर के मुताबिक, 'ऑस्ट्रेलिया के स्टीवन स्मिथ, न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन और भारत के विराट प्रतिभा के मामले में एक बराबर हैं।' पोंटिंग तस्मानिया के ब्रांड एम्बैस्डर होने के नाते भारत के दौरे पर हैं। उनके साथ एक सीनियर प्रतिनिधिमंडल भी है जिसमें शिक्षा, ऊर्जा और पर्यटन से जुड़े लोग शामिल हैं। इस दौरे का उद्देश्य भारत और तस्मानिया के बीच संबंधों को मजबूती देना है। पोंटिंग यहां एनजीओ मैजिक बस से जुड़े बच्चों से भी मिले।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन