यहां सूर्य ग्रहण का कोई प्रभाव नहीं

01-Sep-2016 ||    ||   

यहां सूर्य ग्रहण का कोई प्रभाव नहीं नई दिल्ली। भारत में दो ऐसे मंदिर हैं जहां सूर्य ग्रहण का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। सूर्य ग्रहण के समय पर भी ये दोनों मंदिर खुले रहते हैं। एक मंदिर है उड़ीसा का कोणार्क और दूसरा है हरियाणा के यमुनानगर में स्थित सूर्यकुंड मंदिर। अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल है कोणार्क का सूर्य मंदिर। विश्व स्तर के खगोल शास्त्री यहां सूर्य ग्रहण का अद्भूत नजारा देखने आते हैं। यह मंदिर उडीसा के पूर्वी जिले में चंद्रभागा नदी के किनारे कोणार्क में स्थित है। इसे कोणार्क का सूर्य मंदिर कहा जाता है। इस मंदिर की कहानी भगवान कृष्ण से जुड़ी हुई है। दरअसल यह मंदिर सूर्य देव को समर्पित था और लोग इसे बिरंची-नारायण भी कहते थे। पौराणिक कथा के अनुसार,श्री कृष्ण के बेटे साम्ब को श्राप के अनुसार कोढ़ का रोग हो गया और इसी जगह पर उन्होंने 12 साल सूर्य देवता की तपस्या की और उनको प्रसन्न किया। सभी रोगों का नाश करने वाले सूर्य देवता ने उनको रोग मुक्त किया। साम्ब ने सूर्य देवता के सम्मान में इस मंदिर का निर्माण किया था। भारत के गौरवमयी इतिहास को संजोए एक ऐसा सूर्य मंदिर जो कि हरियाणा के जिला यमुनानगर के गांव अमादलपुर में है। इस मंदिर पर सूर्य ग्रहण का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। इसलिए सूर्य ग्रहण के दिन साधू-संत और श्रद्धालु दूर-दूर से यहां दर्शनों के लिए आते हैं। मंदिर के पुजारी ने बताया कि सूर्यग्रहण के समय मंदिर के प्रांगण में आने-वाले किसी भी प्राणी पर ग्रहण का कोई असर नहीं पड़ता। मंदिर के प्रांगण में सूर्य कुंड इस प्रकार से बना है क‍ि सूर्य की‍ किरणें इस प्रकार पड़ती हैं कि वो कुंड मे ही समा जाती हैं। उन्होंने बताया कि त्रेता के मध्य से कुछ पूर्व सूर्यवंश के राजा मंधाता ने सौभरी ऋष‍ि को आर्चाय बना कर राज सूर्ययज्ञ किया। मंधाता के ऋषि ने यज्ञ भूमि को खुदवा कर उसमें पानी भरवा दिया और इस कुंड का नाम सूर्यकुंड रख दिया। पांडवों ने भी इसी सूर्य मंदिर में स्नान कर पूजा-अर्चना की थी। ऐसी मान्यता है कि यहां के सूरजकुंड में स्नान करने से सभी रोग दूर हो जाते हैं।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन