बच्चो को संवारे, खुद को संवारे

31-Aug-2016 ||    ||    वसीम अकरम

बच्चो को संवारे, खुद को संवारे आज सचिन तेंदुलकर ,विराट कोहली ,साक्षी मलिक,पीवी सिंधु जैसे दिग्गज खिलाड़ी जिस मुकाम तक पहुचे है उनके पीछे गुरू का बड़ा योगदान रहा। इस शिक्षक दिवस पर बात करते है कि कैसे आप भी शिक्षा के क्षेत्र में अध्यापक बनकर बच्चो का भविष्य संवार सकते है।बच्चों को पढने-पढाने का सम्मान और सुकून जो एक शिक्षक को मिलता है शायद ही वह किसी और क्षेत्र मे मिले। जिस तरह कुमाहर मिट्टी को एक बर्तन को आकर देता है उसी तरह एक शिक्षक भी बच्चो के भविष्य को संवारता है जब बच्चे अपने मुकाम तक पंहुचते है बच्चों के टैलेंट को निखारना एक ज्योति की किरण के समान है शिक्षक को जो खुशी होती है शायद वह उसे ब्यां ना कर पाये...। अध्यापन ऐसा कोई भी व्यकित कर सकता है जिसमे बच्चो को सीखाने की लल्का हो, जो बच्चो के टैलेंट को निखार सके।जिसे अपने विषय के बारे मे अच्छी पकड़ हो ,कम्नुयिकेशन स्किल भी अच्छा हो । प्राइमरी या निजी प्राइमरी सेंकेडरी या कॉलेज और युनिवसिटि में पढाने के लिए के क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते है। सम्बंधित कोर्स- शिक्षक बनने के लिए युवाओं के पास आज इंटरमिडिएट,ग्रेजऐशन, पोस्ट ग्रेजऐशन के स्तर के कोर्स कर सकते है जैसे कि । •बीएड (बैचलर एन ऐजूकेशन ) –इस कोर्स को करने के बाद आप प्राइमरी,अपर प्राइमरी स्कूलो में पढा सकते है ये कोर्स युवाओ में काफी लोकप्रिया रहा है इस कोर्स की अवधि वर्ष 2015 से दो साल की कर दी है। इस कोर्स को करने के लिए ग्रेजेएशन मे 50 प्रतिशत होना अनिवार्य है। •बीटीसी (बेसिक टीचर सर्टिफिकेट)- ये भी दो साल का कोर्स होता है जो केवल उत्तर प्रदेश सरकार ही कराती है कोर्स करने के बाद आप प्राइमरी और अपर प्राइमरी स्कूलों में पढा सकते है इस कोर्स मे भी ग्रेजुऐशन अनिवार्य है । •एनटीटी (नर्सरी टीचर ट्रेनिंग )- ये कोर्स खास तौर पर बडे शहरो में प्रचलित है इस कोर्स को आप 12वी के बाद भी कर सकते है। और आप नर्सरी टीचर बन सकते है •बीपीएड (बैचलर एन फिजिकल ऐजुकेशन )- यदि आप को खेल मे रूचि रखते है तो आप 12 वी के बाद बीपीएड करके बच्चो को खेल मे भविष्य संवार सकते है।या फिर आप डिप्लोमा एन फिजिकल ऐजुकेशन भी कर सकते है । •सीटीईटी ( सेंट्रेल टीचर एलिजेबलटी टेस्ट)- इस कोर्स को करने को बाद आप केंद्रीय विध्यालय मे और नवोदय विध्यालय मे पढाने का मौका पा सकते है ये मेरिट बेस पर होता है इस कोर्स को करने की अवधि 5 से 7 साल है। •यूजीसी ( युनिवर्सिटी ग्रंन्ट कमिशन )- यदि आप किसी भी कॉलेज या युनिवर्सिटी मे लेकच्चर बनना चाहता है तो आपको इस टेस्ट पास करना अनिवार्य है। इस परिक्षा मे बैठने के लिए 55 प्रतिशत पोस्ट ग्रेजयुऐशन मे होना जरूरी है, ये परीक्षा साल मे दो बार होती है जून और दिसंबर मे होती है और इस परिक्षा को सीबीएसी कन्डक्ट कराता है।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन