स्तनपान सप्ताह पर निकाली रैली

10-Aug-2016 ||    बेलसंड ||   

स्तनपान सप्ताह पर निकाली रैली नई दिल्ली। विश्व स्तनपान दिवस सप्ताह पर बेलसंड क्षेत्र के पताही पंचायत में जागृति रैली सेविकाओं द्वारा निकाली गई। रैली में आम लोगों खास कर धातृ माताओं को जागृत करने के लिए स्तनापान कराए जाने के विषय में नारे लगाए गए। जिसके तहत मां का दूध सवरेतम आहार है। नवजात को छह माह तक केवल स्तनपान कराएं आदि नारे लगाए गये। रैली के माध्यम से बताया गया कि बच्चें के लिये छह माह तक केवल मां का दूध देना है। छह माह के बाद अन्न देना है तथा उपरी आहार के साथ साथ दो साल तक स्तनपान कराना है। जिससे बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है। बच्चे छोटी- छोटी बीमारी का जल्दी शिकार नहीं होते है। रैली में सेविका कुमकुमवाला, प्रमिला देवी, सीमा कुमारी, रीता देवी, लक्ष्मी कुमारी, ब्यूटी कुमारी, संध्या रानी, अनिता देवी, आशा देवी, श्लोका कुमारी, हसीना खातून, रूबी देवी एवं आरती कुमारी, सहायिका चंदा देवी, शकुंतला देवी, कांति देवी, लक्ष्मीनिया देवी, मीना देवी, एतवरिया देवी, रूनझुन कुमारी आदि शामिल थी। रून्नीसैदपुर: बाल विकास परियोजना कार्यालय के तत्वावधान में शनिवार को बाल विकास परियोजना कार्यालय के तत्वावधान में रैली निकाली गई। मौके पर सीडीपीओ नीति कुमारी ने बताया कि जन्म के तुरंत बाद ही बच्चों को स्तनपान कराना चाहिए। इससे नवजात शिशु को गंभीर बीमारियों से बचाव होता है। कार्यक्रम में सुपरवाइजर कुसुम कुमारी, विभा सिंह, अर्चना कुमारी, श्वेता सुप्रिया, सेविका मंचला सिन्हा, पूनम कुमारी नूतन कुमारी, कृष्णा कुमारी, रश्मि कुमारी समेत कई सेविका शामिल थी।

  बड़ी खबर

Image

ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

नई दिल्ली। उत्तर प्रेदश के पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्रनगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। इस बड़े ट्रेन हादसे में अब तक 63 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं 150 से ज्या

...विवरण पढ़े

~   ट्रेन हादसे में 91 लोगों की मौत

~   संसद जैसा विधानमंडल का सेंट्रल हॉल

~   'बिहार का हौसला व मनोबल बुलंद'

~   उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

~   कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत

~   संसद से सड़क तक ‘नोटबंदी’ पर संग्राम

~   'बेनामी संपत्ति पर हमला करे केंद्र'

~   हर घर बिजली योजना का शुभारंभ

~   सेनारी कांडः 10 को फांसी, 3 को उम्रकैद

~   जाकिर की संस्‍था पर पांच साल का बैन